Ticker

6/recent/ticker-posts

हमारे जीवन में माता-पिता की भूमिका।

family images
प्रस्तवना :

माँ - बाप जो बच्चे  को जन्म देते है और उसकी देखभाल की पूरी जिम्मेदारियां पूरी करते है | ग्रंथो के अनुसार माँ - बाप को ही पहला गुरु कहा गया है क्योकि माँ बाप ही उन बच्चों के अंदर संस्कार डालते है | जन्म से बच्चे अपने माँ - बाप  को देखकर बड़े होते हैं | घर में माँ - बाप का व्यहार और भाषा का बच्चो पर सबसे अधिक असर होता है | 

बच्चे के भविष्य के लिए जो भी चीजे आवश्यक है वह उन्हे भली भाती पता होती है | अपने बच्चे के लिए  क्या सही और क्या गलत वह अच्छे से समझकर उसके हित में निर्णय लेते है |  

विस्तार : 

बच्चों को जन्म के १ से ५ साल तक पूरे प्यार से संभालना चाहिए फिर ६ से १५ साल तक उनको डाँटना चाहिए और बाद में जब बड़े हो जाये तो एक मित्र बनकर उनके साथ रहना चाहिए | परिवार में कोइ एक व्यक्ति कड़क और एक नरम स्वभाव का व्यक्ति होना चाहिए | 

बच्चों के लड़ प्यार भी करने चाहिए लकिन सारे चीजों की एक सिमा होती है | एक बच्चे का पूरा जीवन सुखी करने के लिए माँ -बाप अपने सुख को भूलकर बच्चों के सुख के लिया अपने सुखों त्याग करते है | बाद में बड़े होने के बाद बच्चें   पूछते ही आपने  मेरे लिए क्या किया | आज के इस वर्त्तमान युग में कोइए अपना नहीं है | सभी लोग अपना अपना स्वार्थ ही देखते है | सचाई के मार्ग पर चलने वाले लोगो को बहुत पीड़ा दी जाती है | 

यदि किसी चीज के लिए बच्चा जिद करे और माँ बाप के पास पैसा नहीं हो फिर भी वह यह वह से जमा करके उसको देते है ताकि जो तकलीफे उन्होने सहीं वह उनके बचे को न साहनी पड़े | 

वृद्धा आश्रम :

आज जो प्रकार हमारे सामने आ रहा वह यह है की काफी मात्रा में वृद्धा आश्रम का बढ़ना | वृद्धा आश्रम के बढ़ने के काफी सारे कारन है | विभिन्न देशों में वृद्धाश्रम बढ़ने के पीछे कई कारण हैं, जिनमें से कुछ में बढ़ते शहरीकरण और आधुनिक जीवन शामिल हैं, जो लोगों को बहुत व्यस्त बनाता है | दूसरा एक और यह कारन हो सकता है यदि दोनों बेटा और बहु यदि काम पर जाते है तो उनकी देखभाल करने के लिए कोइ नहीं होता इसलिए उन्हे वृद्धा आश्रम में भेजा जाता है ताकि उनका ख्याल वहा रखा जा सके | 

घर में यदि बहु और सास याह ससुर के बढ़ते झगड़े का कारण भी उन्हें वृद्धा आश्रम के दरवाज़े उनके लिए खोल देता है | अंत में, वृद्धाश्रम कुछ लोगों के लिए आशीर्वाद और दूसरों के लिए अभिशाप बन सकता हैं। प्रत्येक परिवार के लिए स्थिति उनके हिसाब से अलग -अलग होती है।लकिन कई जगह पर उनके यही कुछ मुख्या कारन है |  

हालांकि, नर्सिंग होम बुजुर्गों की आखिरी उम्मीद हैं, इसलिए उन्हें सभी सुविधाओं से लैस किया जाना चाहिए ताकि जो लोग वहां रहते हैं वह अपना बेहतर जीवन जी सकें। इन सभी जरूरतों का अच्छी तरह से ध्यान रखा जाता है, लेकिन बहुत जरूरी प्यार और प्रियजनों की देखभाल निश्चित रूप से दुखद है, जो उन्हे वह पर नहीं मिलती | 

Post a Comment

0 Comments