Ticker

6/recent/ticker-posts

इंटरनेट की हानिया

Hindi Essays

Virus

विषय परिचय :

आज इंटरनेट के जितने उपयोग है उतने ही गैर उपयोग भी है | छोटे बच्चे अपना अधिक समय कंप्यूटर के आगे गेम खेलते हुए हि बिताते है | जिस कारण उनका ध्यान पढाई मे नही लगता | आज इंटरनेट के कारण हैकिंग का प्रणाम भी बढ़ गया है | यह जीवन का एक एहम हिस्सा हे जो यदि  काट जाये तो मनुष्य उसके बगैर जी नहीं सकता |

हानिया विस्तार मे:

आज अगर बैंक को लूटना हो या कंपनी की जानकारी चोरी करनी हो तो वहा हत्यार की नहीं बस एक कंप्यूटर और एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन होना की जरुरत है तो अपने आप कम होगा | हर चीज़ के दो पहलु होते है एक अच्छा तो एक बुरा |

 इंटरनेट अधिक मात्रा मे युवा वर्ग मे प्रचलित हो रहा है और अधिक मात्रा मे गुन्हे भी वही कर रहे हैं | ज्यादा समय वीडियो या आदि चीजों का उपयोग हमे मानसिक रोग का शिकार बनता है और सात ही आंखों की भी तकलीफ सहनी पड़ती है |

इंटरनेट एक वरदान है जिसका उपयोग अगर सही तरीके से करे तो हम बहुत आगे तक जा सकते हैं।और यदि इस वरदान का कोई गलत उपयोग करें तो यह किसी शाप से काम नही यह पूरे देश और दुनिया को ताभा करने में सक्षम हैं। यह एक जल है जिसमें यदि कोई फस जाए तो और गहरा फस सकता है, इससे निकालना मुश्किल हैं। 

लोग अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी करने पर तुले है, वह किसी भी प्रकार की हद पर कर देंगे या फिर जन भी ले सकते हैं। इंटरनेट एक शस्त्र है जिसे जो चाहे, जब चाहे, जैसे चाहे प्रयोग में ला सकता है | कोइ भी चीज अच्छी  हैं यह बुरी यह तो उसके देखने वाले के दृष्टी पर निर्भर है | 

कुछ प्रकार का काम जो हमे गलत लगता हो लेकिन उस व्यक्ति को सही लगता हो ऐसा हो सकता है | यह बात सही है की कोइ भी चीज पूरी तरह से सुरक्षित नहीं होती कुछ न कुछ तो कमिया रहती ही है | 

निम्न कुछ कारण :

  • व्यसन, समय-व्यर्थ और विचलित करने का कारण बनता है | 
  • बदमाशी, ट्रोल्स, शिकारी और अपराध का बढ़ना | 
  • स्पैम और विज्ञापन | 
  • अश्लील और हिंसक चित्र | 
  • उन चीजों को खरीदना जिनकी आपको आवश्यकता नहीं है | 
  • बच्चों के लिए सुरक्षित जगह नहीं हैं | 
  • वायरस / मैलवेयर का बढ़ना | 

इंटरनेट की मदद से काफी लोगो को फसाया जाता है | चीजों का लालच ,ऑफर्स और डिस्काउंट के चलते लोगो को लूटना | फेक साइट्स के माध्यम से लोगो की निजी जानकारी को प्राप्त करना आदि काम इंटरनेट पर बहुत भरी मात्रा में बढ़ रहे हैं | 

बचने के उपया :

  • कोइ भी व्यक्ति अपनी निज जानकारी किसी भी अनजान साइट पर न दे | 
  • किसी भी संदेह वाली लिंक पर क्लिक ना करे |
  • इंटरनेट का जरुरत के हिसाब से ही उपयोग करे | 
  • विज्ञापन के चक्केर में न पड़े वह दिखते कुछ ओर है और होते कुछ ओर हैं | 
  • मोबाइल और कंप्यूटर में एंटी वायरस का इस्तेमाल करे | 
  • पीसी से अनावश्यक सॉफ्टवेयर और फाइलों को हटा दें।

इनसे आप काफी हद तक सुरक्षित रह सकते है | इंटरनेट एक बहत बड़ा अकल्पनीय जल है यदि इसमें कोइ इंसान फसे तो उसका बाहर आना मुश्किल है | वह और गहरा फास सकता है | हर चीज की कुछ उपयोग सीमा होती है और वह हमपर निर्भर करता है की हम कितनी सीमा में रह सकते है | हमारी बर्बादी के जिम्मेदार हम खुद ही होते है | हमरी किसी कमजोरी का फायदा लोग उठाते है और फिर हमे ही परेशान करते है | 

Post a Comment

0 Comments